25 सीएनजी स्टेशन खुलेंगे

देहरादून: संभागीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए) की बैठक में हुए फैसले के बाद दून में आने वाले दिनों में सीएनजी संचालित विक्रम और ऑटो की संख्या बढ़ जाएगी। ऐसे में सीएनजी स्टेशन बढ़ाने जरूरी होंगे।

इसी के मद्देनजर हरिद्वार-देहरादून के बीच सीएनजी लाइन का काम जल्द पूरा होने की उम्मीद है। गेल (इंडिया) का दावा है कि मार्च 2023 तक दून में 25 सीएनजी फिलिंग स्टेशन खोल दिए जाएंगे, इनमें से 13 का निर्माण पूरा हो चुका है।

देहरादून में मौजूदा वक्ता में सीएनजी के तीन फिलिंग स्टेशन हैं। इनमें से भी मसूरी रोड स्थित पंप कुछ महीनों से कंस्ट्रक्शन के चलते बंद है। सहस्रधारा रोड और रेसकोर्स स्थित फिलिंग स्टेशन से पूरे शहर की सप्लाई होती है। बाहर के आने वाले वाहन भी इन्हीं पर निर्भर हैं। इससे यहां वाहनों का काफी दबाव रहता है।

शहर में सीएनजी की सप्लाई दुरुस्त करने और प्रक्रिया को ऑनलाइन करने के लिए लंबे समय से हरिद्वार- देहरादून के बीच सीएनजी लाइन बिछाने का काम चल रहा है, लेकिन डेटलाइन खत्म होने के बाद भी यह पूरा नहीं हो पाया है। ऐसे में हरिद्वार से टैंकरों के माध्यम से दून में सीएनजी की सप्लाई होती है।

अभी लगती है लाइन केवल दो सीएनजी पंप होने के कारण फिलहाल देहरादून में सीएनजी के लिए वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। लंबी लाइन में लगने के बाद सीएनजी मिल पाती है। बता दें शहर में रोजाना 10 हजार किलो सीएनजी गैस की खपत है। यात्रा सीजन में बाहर से आने वाले वाहनों का दबाव बढ़ने के कारण खपत और परेशानी दोनों ही बढ़ जाती हैं।

गेल इंडिया की जनरल मैनेजर मीनाक्षी त्रिपाठी ने बताया कि, पाइपलाइन बिछाने का काम 90 फीसदी तक पूरा हो चुका है। कुछ जगहों पर क्लीयरेंस का पेंच फंसा होने के कारण काम पूरा नहीं हो पाया। पहले चरण में दून में आईएसबीटी स्थित फिलिंग स्टेशन तक गैस लाइन बिछ जाएगी। यहां से पंपों तक सीएनजी पहुंचाने में आसानी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.