लंपी स्किन डिजीज से गढ़वाल में 260 मवेशी मरे

हल्द्वानी : उत्तराखंड में लंपी स्किन डिजीज वायरस अब तक सैकड़ों दुधारू पशुओं को चपेट में ले चुका है। कुमाऊं मंडल में पशुपालन विभाग की मुस्तैदी का ही असर है कि अब तक यहां सिर्फ 98 मवेशी संक्रमित मिले हैं, जिनकी मृत्यु दर शून्य प्रतिशत है। दूसरी ओर, देहरादून और हरिद्वार में 10 हजार संक्रमितों में से 260 से अधिक मवेशी दम तोड़ चुके हैं।

सरकारी आंकड़ों की बात करें तो कुमाऊं मंडल में अब तक सिर्फ 98 मवेशी संक्रमित मिले हैं। जिनमें से 60 रिकवर हो चुके हैं। सबसे अधिक 38 मामले हल्द्वानी में मिले हैं। पशुपालन विभाग के मुताबिक 25 मवेशी ठीक हो चुके हैं जबकि अन्य का उपचार चल रहा है।

देहरादून में लंपी वायरस से करीब 8700 मवेशी संक्रमित हो चुके हैं। जिनमें से 224 की मौत और पांच हजार से अधिक रिकवर हो चुके हैं। पशुपालन विभाग की ओर से यहां 52 हजार से अधिक पशुओं का टीकाकरण भी किया जा चुका है। यही स्थिति हरिद्वार की बनी हुई है। यहां अब तक 1200 मवेशी इस वायरस से संक्रमित हुए हैं। जिनमें से 36 दम तोड़ चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.