उत्तराखंड: चोटियों पर हिमपात

देहरादून: उत्तराखंड में मौसम का मिजाज बदला-बदला है। यहां मैदानों में चटख धूप और पर्वतीय क्षेत्रों में बादलों की आंख-मिचौनी चल रही है।

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, आज प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में मौसम शुष्क रहने का अनुमान है। देहरादून में भी धूप खिली हुई है। इससे पहले शुक्रवार को बदरीनाथ में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम के बाद मौसम ने फिर करवट बदली और दोपहर बाद क्षेत्र में हल्की वर्षा और बर्फबारी हुई।

प्रदेश के में पिछले कुछ दिनों से चोटियों पर हिमपात का क्रम बना हुआ है। जबकि, आसपास के निचले इलाकों में भी हल्की वर्षा हो रही है। शुक्रवार को प्रदेशभर में आसमान साफ रहा और चटख धूप खिली।

हालांकि, बदरीनाथ और आसपास के क्षेत्रों में दोपहर बाद बादलों ने डेरा डाल लिया और कई स्थानों पर हल्की वर्षा और चोटियों पर हिमपात हुआ। हालांकि, केदारनाथ और अन्य धामों में दिनभर मौसम शुष्क रहा।

चोटियों पर हुई बर्फबारी से पर्वतीय क्षेत्रों में ठिठुरन बढ़ गई है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, प्रदेश में आज से अगले कुछ दिन मौसम शुष्क रह सकता है।ज्यादातर क्षेत्रों में चटख धूप खिली रहने का अनुमान है। पर्वतीय क्षेत्रों में कहीं-कहीं आंशिक बादल छाये रह सकते हैं। इस दौरान तापमान सामान्य बना रहेगा।

भारत तिब्बत सीमा पुलिस के हर्षिल स्थित ट्रांजिट कैंप में जवानों को पीने का पानी नहीं मिल पा रहा है। पेयजल लाइन दबकर चोक होने के कारण ये समस्या पैदा हुई है। हिमवीर कंकड़ गंगा से पानी ढोने के लिए मजबूर हैं।

जन प्रतिनिधियों का कहना है कि संबंधित विभाग को कई बार अवगत कराया गया। परंतु विभाग समस्या की ओर ध्यान नहीं दे रहा है। वर्ष 2020-21 में हर्षिल रोड के निर्माण के चलते भारत तिब्बत सीमा पुलिस के ट्रांजिट कैंप की पेयजल लाइन दब गई थी। इसके बाद से कैंप में पानी की आपूर्ति ठप है।

हर्षिल ईको पर्यटन समिति के अध्यक्ष माधवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि हर्षिल रोड के भरान के चलते आइटीबीपी की पेयजल लाइन ढाई से तीन मीटर तक दब गई है। इसके चलते लाइन चोक होने से पेयजल आपूर्ति ठप है। जल संस्थान के अधिशासी अधिकारी बीएस डोगरा ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। इसमें आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.